News Aap Tak

Bengali English Gujarati Hindi Kannada Punjabi Tamil Telugu
News Aap Tak
[the_ad id='5574']

वैज्ञानिकों का कमाल क्लोनिंग की मदद से किया करिश्मा, 1988 में मर चुके जानवर को क्लोनिंग से किया ज़िन्दा

न्यूज़ आपतक उत्तराखंड

ज्ञान-विज्ञान देश-विदेश

जो मर चुका है, उसे वापस ज़िन्दा करना असंभव है? हम सब यही सुनते आ रहे हैं. अब ये कथन असत्य साबित हो गया है. अमेरिका के कुछ वैज्ञानिकों ने एक विलुप्त प्राणी (Extinct Animal) को ज़िन्दा कर दिया है.

क्लोनिंग (Cloning) की मदद से किया करिश्मा

रिपोर्ट्स के अनुसार, Black-Footed Ferret नामक ये प्राणी विलुप्त हो चुका था. US Fish and Wildlife Service, ViaGen,Revive & Restore, Pets & Equine, the Association of Zoos and Aquariums and San Diego Zoo Global संस्थाओं के शोधार्थियों ने मिलकर क्लोनिंग प्रक्रिया से लुप्तप्राय (Endangered Species) को बचा लिया.

किसी लुप्तप्राय प्रजाति को क्लोनिंग से बचाने की ये अमेरिका के वैज्ञानिकों की पहली कोशिश थी. ग़ौरतलब है कि दुनिया के कई देश ऐसा पहले ही कर चुके हैं.

उत्तरी अमेरिका में Ferret की एकमात्र प्रजाति Black-Footed 1980 के दशक में विलुप्त हो गई थी. जैसे-जैसे इंसानों ने खेती करने का क्षेत्र बढ़ाया वैसे-वैसे इस प्राणी की जनसंख्या घटती चली गई.

1981 में एक किसान को अपने फ़ार्म पर Black Footed Ferrets दिखे. पर्यावरणविदों ने उन्हें सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया और ब्रीडिंग करवाई. इस पूरी जनसंख्या के सिर्फ़ 7 Ferrets ही प्रजनन कर पाए. आज इस प्रजाति के सिर्फ़ 650 सदस्य ज़िन्दा है जो दो अलग सुरक्षित लोकेशन्स पर रहते हैं.

हाल ही में वैज्ञानिकों को Black-Footed Ferret का ही प्रोज़न टिश्यू मिला और उससे एक क्लोन बनाया गया, नाम रखा गया Elizabeth Ann. Dolly भेड़ को ज़िन्दा करने के लिए जिस प्रक्रिया का प्रयोग 1996 में किया गया था, उसी प्रक्रिया से Ferret को भी ज़िन्दा किया गया.

2013 में ही ये क्लोनिंग प्रोजेक्ट शुरू हो गया था और दिसंबर 2020 में क्लोन्ड Ferret Elizabeth Ann पैदा हुई. Ann की देखभाल कोलोराडो सेन्टर के स्टाफ़ कर रहे हैं.

News Aap Tak
Author: News Aap Tak

Chief Editor News Aaptak Dehradun (Uttarakhand)

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram