News Aap Tak

Bengali English Gujarati Hindi Kannada Punjabi Tamil Telugu
News Aap Tak
[the_ad id='5574']

UKSSSC पेपर लीक मामले में STF ने लोहाघाट से एक शिक्षक को किया गिरफ्तार, पढ़िए शिक्षक का पीसीओ चलाने और पेपर लीक तक का सफर

न्यूज़ आपतक उत्तराखंड

  • UKSSSC 2021 पेपर लीक मामले को लेकर सियासत गर्म,एसटीएफ ने कुमाऊं के लोहाघाट राजकीय प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक बलवंत सिंह रौतेला को किया गिरफ्तार ,

  • एसटीएफ के अनुसार सामूहिक रूप से पेपर लीक के लिए कुमाऊं के दो रिजॉर्ट में 50-60 स्टूडेंट्स एकत्र हुए थे.

  • एसटीएफ की जांच टीम के अनुसार इस कड़ी में अधिकांश छात्रों चिन्हित कर लिया गया है,

  • एसटीएफ ने पुख्ता सबूतों के आधार पर आरएमएस टेक्नो सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड के पूर्व कर्मचारी विपिन बिहारी  को उत्तर प्रदेश के सीतापुर से गिरफ्तार किया

  • एसटीएफ  द्वारा की गई 28वीं गिरफ्तारी,

देहरादून: उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग 2021 पेपर लीक  मामले में गिरफ्तारियों का दौर जारी है. पेपर लीक मामले में एसटीएफ को एक और सफलता मिली है. इस बार एसटीएफ ने कुमाऊं के लोहाघाट राजकीय प्राथमिक विद्यालय  के शिक्षक बलवंत सिंह रौतेला को गिरफ्तार किया है. एसटीएफ के मुताबिक अभियुक्त बलवंत सिंह ही वह शख्स है जो शशिकांत का दाहिना हाथ बनकर रिजॉर्ट में छात्रों को नकल के पेपर मुहैया कराने में शामिल था. एसटीएफ ने अब तक कुमाऊं के दो रिजॉर्ट में पेपर लीक से जुड़े मामले की परत खोली है. ऐसे में अब तक पेपर लीक मामले में 29 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं.

एसटीएफ ऐसे पहुंची आरोपी तक: एसटीएफ के अनुसार सामूहिक रूप से पेपर लीक के लिए कुमाऊं के दो रिजॉर्ट में 50-60 स्टूडेंट्स एकत्र हुए थे. जहां पर सभी को नकल करने वाले मुख्य अभियुक्त शशिकांत के बाद अब उसका दाहिना हाथ बलवंत सिंह रौतेला को गहन पूछताछ और पुख्ता सबूतों के आधार पर गिरफ्तार किया गया है. बलवंत सिंह द्वारा ही करीब 40 छात्रों को इकट्ठा करके उत्तर प्रदेश के नकल माफिया शशिकांत के माध्यम से पेपर लीक किया गया था. एसटीएफ की जांच टीम के अनुसार इस कड़ी में अधिकांश छात्रों चिन्हित कर लिया गया है, जो परीक्षा से पूर्व दो रिजॉर्ट में रुके थे. जांच-पड़ताल में बरामद दस्तावेजों के साक्ष्य में यह पुष्टि हुई

पीसीओ चलाने से लेकर शिक्षक तक का सफर: एसटीएफ एसएसपी अजय सिंह  के मुताबिक उत्तर प्रदेश के नकल माफिया शशिकांत का दाहिना हाथ कहे जाने वाला शिक्षक बलवंत का सफर कभी एक पीसीओ चलाने वाले के रूप में शुरू हुआ था. इसके बाद उसने छोटे-मोटे अन्य कार्य करते हुए इलेक्ट्रॉनिक का सामान बेचने का काम भी शुरू किया था. जिसके बाद वह लोहाघाट राजकीय प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक बन गया. इसी दौरान उसने उत्तर प्रदेश के नकल माफिया शशिकांत का आदमी बनकर उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग पेपर लीक धंधे में जमकर धन बटोरा.

बात दें कि बीते दिन उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग 2021 पेपर लीक  मामले में एसटीएफ ने लखनऊ प्रिंटिंग प्रेस कनेक्शन से जुड़ी एक और कड़ी को गिरफ्तार किया था. एसटीएफ ने पुख्ता सबूतों के आधार पर आरएमएस टेक्नो सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड के पूर्व कर्मचारी विपिन बिहारी (Vipin Bihari) को उत्तर प्रदेश के सीतापुर से गिरफ्तार किया था. इस मामले में एसटीएफ  द्वारा की गई ये 28वीं गिरफ्तारी थी. पेपर लीक केस को इंसाफ के अंजाम तक पहुंचाएंगे: उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग मामले की जांच को लेकर डीजीपी अशोक कुमार ने सख्त कार्रवाई की बात कही है. आगे भी महत्वपूर्ण लोग रडार पर हैं, जिनकी गिरफ्तारी जल्द तय है. ऐसे में एसटीएफ इस मामले में लगातार गिरफ्तारी कर रही है.

News Aap Tak
Author: News Aap Tak

Chief Editor News Aaptak Dehradun (Uttarakhand)

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram