News Aap Tak

Bengali English Gujarati Hindi Kannada Punjabi Tamil Telugu
News Aap Tak
[the_ad id='5574']

UKSSSC भर्तियों पर खड़ा बड़ा सवाल, एक और बड़ी गिरफ्तारी, CBI जांच पर सीएम धामी का बड़ा बयान आया सामने, पढ़ें पूरी खबर

न्यूज़ आपतक उत्तराखंड

UKSSSC के साथ ही अब अन्य भर्तियों को लेकर भी गड़बड़ियों के आरोप लग रहे हैं. इधर विपक्षी कांग्रेस पार्टी राज्य सरकार से सवाल पूछ रही है कि आयोग के पूर्व अध्यक्षों व सरकार में ज़िम्मेदारों पर एक्शन क्यों नहीं हो रहा ? बड़ी मछलियों पकड़ने के लिए बड़ी जांच की मांग उठ रही है.

देहरादून. उत्तराखंड में अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की भर्ती परीक्षा में हुए घोटाले में एसटीएफ ने 23वीं गिरफ्तारी करते हुए क बड़ी मछली को धर दबोचा. पंतनगर यूनिवर्सिटी का रिटायर्ड अफसर दिनेश जोशी कुछ समय से एसटीएफ के रडार में था और गुरुवार की शाम जोशी की गिरफ्तारी के बाद बड़े खुलासे हुए. जोशी पर 80 लाख लेने का आरोप है. इसके अलावा इस मामले में कई बड़े अपडेट और भी हैं, जैसे कांग्रेस ने इस मामले में सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है, निष्पक्ष जांच की मांग की जा रही है, सीबीआई जांच की मांग को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इनकार नहीं किया है और इधर अब विधानसभा में भी भर्ती में गड़बड़ियों के आरोप लग रहे हैं.

एग्ज़ाम पास करवाने के नाम पर हल्द्वानी के अभ्यर्थियों के लिए पेपर लीक करने वाला जोशी आखिरकार एसटीएफ के हत्थे चढ़ ही गया. आरोप है कि जोशी ने एग्जाम क्लियर करवाने के लिए 80 लाख की रकम ली थी. बताया जा रहा है कि पिछली गिरफ्तारियों के बाद जारी पूछताछ में कई आरोपियों ने जोशी का नाम लिया था, जिससे एसटीएफ के निशाने पर जोशी लंबे समय से था. इधर, इस पूरे मामले में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त रवैया अपनाने और सभी दोषियों पर एक्शन होने की बात दोहराई.

अब विधानसभा भर्तियों में भी गड़बड़ी के आरोप

पेपर लीक मामले के बीच अब कांग्रेस ने विधानसभा की 129 भर्तियों में गड़बड़ी के बड़े आरोप लगाकर धामी सरकार के खिलाफ एक और मोर्चा खोल दिया है. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन मेहरा ने कहा कि बड़े नेताओं के चहेतों को रेवड़ी की तरह नौकरी बांटी गई. बीजेपी के मंत्री, पूर्व मंत्री, संगठन मंत्री के करीबियों को नौकरियां दिए जाने का आरोप लगाते हुए उन्होंने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा में 543 अधिकारी कर्मचारी हैं, जबकि उससे कई गुना छोटे उत्तराखंड में यह संख्या 560 के पार है.

‘सीबीआई जांच का विकल्प भी खुला है’

पेपर लीक घोटाला बड़े स्तर पर खुलने के बाद गड़बड़ी वाली तमाम भर्तियों को रद्द कर नये सिरे से भर्तियां करने का ऐलान कर चुके सीएम धामी ने सीबीआई जांच को लेकर और बड़ा बयान देते हुए कहा “अभी प्रदेश की एजेंसी पूरे मामले की जांच कर रही है. अगर ज़रूरत पड़ी तो जांच के लिए सभी विकल्प खुले हुए हैं.” असल में कांग्रेस के साथ ही यूकेडी जैसी पार्टियां भी इस मामले में सीबीआई जांच की मांग उठा चुकी हैं और लगातार विरोध प्रदर्शन जारी हैं.

‘CBI या हाईकोर्ट जस्टिस करें जांच’

भर्ती घोटाले पर आक्रामक रुख अपनाने वाली कांग्रेस लगातार बड़ी जांच की मांग करते हुए सरकार को घेर रही है. अल्मोड़ा में नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने कहा कि इस घोटाले में कई हाकम सिंह हैं इसलिए जांच निष्पक्ष तभी हो सकती है जब उच्च न्यायलय के न्यायाधीश की देखरेख में हो या सीबीआई द्वारा. पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि कहा कि भर्ती टालने के लिए तो कहीं पूरी साज़िश तो नहीं रची गई. गुरुवार को कांग्रेस ने देहरादून ने गवर्नर को ज्ञापनसौंपा तो उत्तरकाशी में पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण के नेतृत्व में जिला मुख्यालय पर जमकर प्रदर्शन किया.

 

 

News Aap Tak
Author: News Aap Tak

Chief Editor News Aaptak Dehradun (Uttarakhand)

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram