News Aap Tak

Bengali English Gujarati Hindi Kannada Punjabi Tamil Telugu
News Aap Tak

यूपी बॉर्डर पर सख्ती,ओमिक्रॉन के साये में,कोविड जांच के बिना उत्तराखंड में प्रवेश नही कर सकेंगे अब,

न्यूज़ आपतक उत्तराखंड

ओमिक्रॉन साये के बीच यूपी बॉर्डर पर सख्ती,

कोरोना के नये वेरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते संकट को देखते हुए उत्तराखंड में भी सख्ती शुरू हो गई है। स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन की संयुक्त टीमों ने यूपी-उत्तराखंड बॉर्डर पर सख्ती कोविड जांच शुरू कर दी है। बाजपुर से यूपी को जोड़ने वाले बॉर्डर पर जांच शुरू कर दी है। अन्य राज्य से आने वाले लोगों को कोविड जांच के बाद ही राज्य में प्रवेश दिया जाएगा।साथ ही जिन लोगों का वैक्सीनेशन नहीं हुआ है उनको वैक्सीन भी लगाई जा रही है। यूपी से उत्तराखंड को जोड़ने वाला दोराहा यूपी बॉर्डर बेहद संवेदनशील है।

नैनीताल आदि उत्तराखंड के अन्य पर्यटन क्षेत्रों में बड़ी संख्या में सैलानी इसी बॉर्डर से प्रवेश करते हैं। इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखकर उच्चाधिकारियों के निर्देश पर रविवार को स्वास्थ्य विभाग व पुलिस प्रशासन की टीम ने बॉर्डर पर जांच शुरू कर दी है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बाजपुर के सीएमएस डा0 पंकज माथुर के नेतृत्व में टीमें लगातार दूसरे प्रदेशों से आने वाले लोगों के सैंपल लेकर कोरोना की जांच के लिए भेज रही हैं।
साथ ही बिना वैक्सीनेशन के आने वाले लोगों को वैक्सीन लगाने का भी कार्य किया जा रहा है। सीएमएस डॉ पंकज माथुर ने बताया कि 72 घंटे की आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट लाने वाले व्यक्ति को प्रवेश करने की अनुमति दी जा रही है और बिना वैक्सीनेशन के आने वाले लोगों को वैक्सीन लगने के बाद ही प्रवेश कराया जा रहा है। आपको बता दें कि उत्तराखंड में शनिवार को कोरोना के 1560 नए मरीज मिले और संक्रमण की दर दस प्रतिशत के खतरनाक स्तर को पार कर गई है। शुक्रवार की तुलना में शनिवार को राज्य में तकरीबन दोगुना नए मरीज मिले और राजधानी देहरादून के साथ ही नैनीताल और हरिद्वार जिले हॉट स्पॉट के रुप में उभरे हैं। पिछले आठ दिनों में राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या 13 गुना बढ़ी है।

स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार शनिवार को देहरादून में 537, नैनीताल में 404, हरिद्वार में 303, पिथौरागढ़ में 82, अल्मोड़ा में 52, चम्पावत में 46, यूएस नगर में 37, टिहरी में 28, उत्तरकाशी में 20, पौड़ी में 24, बागेश्वर में 13, चमोली में आठ और रुद्रप्रयाग में छह नए संक्रमित पाए गए हैं। राज्य के विभिन्न अस्पतालों व होम आईसोलेशन से शनिवार को 270 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया जिससे राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 3254 हो गई है।

राज्य में संक्रमण की दर शनिवार को खतरनाक स्तर को पार करते हुए 10.26 प्रतिशत पहुंच गई है। जबकि मरीजों के ठीक होने की दर 95 प्रतिशत है। शनिवार को बढ़ी संख्या में मरीज मिलने से राजधानी देहरादून में कोरोना के एक्टिव मरीजों का आंकड़ा 11 सौ से अधिक हो गया है। राज्य में 29 मई 2021 बाद के बाद शनिवार को इतनी बड़ी संख्या में नए मरीज मिले हैं। 29 मई को राज्य में 1687 नए मरीज मिले थे।
जांच में इजाफा नहीं हो पाया
राज्य में पिछले एक सप्ताह से कोरोना संक्रमण की दर बहुत तेज गति से बढ़ी है। लेकिन इसके बावजूद सरकार कोरोना जांच नहीं बढ़ा पाई है। यही वजह से कि राज्य में संक्रमण की दर 10 प्रतिशत से अधिक हो गई है। यदि मैदानी जिलों की बात की जाए तो यहां संक्रमण दर और भी अधिक है। शनिवार को ही राज्य में 15 हजार के करीब सैंपलों की लैब से रिपोर्ट आई जबकि 16 हजार से कुछ अधिक सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। राजधानी देहरादून में सिर्फ 3531 सैंपलों की जांच हुई जिसमें 537 मरीज पॉजिटिव आए हैं। राज्य के तीन जिलों को छोड़कर अन्य जिलों में हजार से कम सैंपलों की जांच की गई है।

News Aap Tak
Author: News Aap Tak

Chief Editor News Aaptak Dehradun (Uttarakhand)

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram