News Aap Tak

Bengali English Gujarati Hindi Kannada Punjabi Tamil Telugu
News Aap Tak

इलेक्ट्रॉनिक वाहनों को खरीदने के लिए प्राथमिकता, कर्मचारियों को इलेक्ट्रॉनिक वाहन खरीदने के लिए मिलेंगे 3 लाख ₹,

न्यूज़ आपतक उत्तराखंड

कर्मचारियों को इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने के लिए मिलेंग 3 लाख रुपये

देशभर में इलेक्ट्रिक वाहनों की मांग तेजी से बढ़ रही है, क्योंकि पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम और प्रदूषण से लोगों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है. इसके चलते लोग इलेक्ट्रिक वाहनों की तरफ अपनी दिलचस्पी बढ़ा रहे हैं. ऐसे में कई बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनियों ने नए-नए इलेक्ट्रिक वाहन की पेशकश की है.
इस बीच इलेक्ट्रिक वाहन की बढ़ती मांग को देखते हुए कई कम्पनियां अपने ग्राहकों के लिए ऑफर प्रदान कर रही हैं. ऐसे में देश की टॉप कार्पोरेट कंपनी JSW ने अपने कर्मचारियों के लिए नए साल पर प्रोत्साहन राशि का ऐलान किया है.

कर्मचारियों के लिए 3 लाख रुपये की पेशकश (Rs 3 lakh Offer for Employees)

दरअसल, जेएसडब्ल्यू (JSW) कंपनी 1 जनवरी से इलेक्ट्रिक वाहन (Electric Vehicles) खरीदने वाले अपने कर्मचारियों को 3 लाख रुपये की देने की पेशकश करेगी. यह प्लान पूरे भारत में मौजूद सभी कर्मचारियों के लिए है. इसका फायदा सभी कर्मचारी उठा सकते हैं.
जेएसडब्ल्यू (JSW) समूह द्वारा घोषित EV नीति के तहत दोपहिया (Electric Two Wheeler) और चार पहिया इलेक्ट्रिक वाहन (Electric Four Wheeler) की खरीद पर प्रोत्साहन राशि देगी. इसके साथ ही कंपनी कर्मचारियों के लिए सभी JSW कार्यालयों और प्लांट लोकेशन पर इलेक्ट्रिक वाहनों (Electric Vehicles) के लिए मुफ्त में डेडिकेटेड (EV Charging Station) चार्जिंग स्टेशन और पार्किंग स्लॉट भी उपलब्ध कराएगी. कंपनी ने कहा कि इस नीति का मकसद कर्मचारियों के बीच इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने को बढ़ावा देना है.

जेएसडब्ल्यू समूह की तरफ से जारी बयान (Statement Issued By JSW Group)

जेएसडब्ल्यू समूह की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, एक बयान में बताया गया कि भारत में अपने कर्मचारियों के लिए अपनी नवीनतम हरित पहल JSW इलेक्ट्रिक व्हीकल नीति पेश की है.
इस उदेश्य से कंपनी के कर्मचारी 2 या 4 पहिया इलेक्ट्रिक वाहन खरीद सकें. इसके तहत सभी कर्मचारियों के लिए JSW ग्रुप के ऑफिस और प्लांटस पर फ्री इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन और पार्किंग स्लॉट दिए जाएंगे. इस नीति का उद्देश्य कर्मचारियों के बीच इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने को बढ़ावा देना है.

इससे इलेक्ट्रिक वाहनों को खरीदने वालों की संख्या में बढ़ोतरी होगी. इस तरह भारत को हरित गतिशीलता (Green Mobility) तक पहुंचने में सक्षम बनाना है.” उन्होंने कहा, “हम जिम्मेदारी के साथ आगे बढ़ना जारी रखेंगे.”

News Aap Tak
Author: News Aap Tak

Chief Editor News Aaptak Dehradun (Uttarakhand)

Share on whatsapp
WhatsApp
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on telegram
Telegram